Food Travel Hatke Fashion Lifestyle Viral Health Entertainment Sports News Deals & Offers
Home ›› Hatke ›› तिरुपति बालाजी मंदिर के 10 रहस्यमई तथ्य

तिरुपति बालाजी मंदिर के 10 रहस्यमई तथ्य

by Arti Jha | Posted: Jan 06, 2021 at 15:18 | Views: 288

 तिरुपति बालाजी मंदिर के 10  रहस्यमई तथ्य
Source: ytimg

तिरुपति बालाजी  को भारत का सबसे रहस्यमय और चमत्कारी मंदिर कहा जाता है । भगवान तिरुपति बालाजी के दर्शन करने के लिए गरीब और अमीर सभी लोग जाते हैं। प्रत्येक साल लाखों करोड़ों लोग तिरुमला की पहाड़ियों पर स्थित इस मंदिर में भगवान वेंकटेश्‍वर का आशीर्वाद लेने के लिए जुटते हैं। ऐसा माना जाता है कि भगवान बालाजी अपनी अर्धांगिनी  पद्मावती के साथ तिरुमला में रहते हैं।यहां का ऐसा भी मान्यता है कि जो भक्त सच्चे हृदय से भगवान से  प्रार्थना करता है उसकी सभी मनोकामनाएं भगवान पूरा करते हैं। जब भक्तों की मनोकामना पूरी हो जाती है तो भक्त अपनी सरधा के अनुसार भगवान बालाजी तिरुपति मंदिर में आकर अपने बालों का दान देते हैं। 


आज हम आपको बता रहे हैं इस चमत्कारी मंदिर से जुड़े कुछ ऐसे रहस्य बता रहे है, जो आप नहीं जानते होंगे


ALSO READ :

ये है,दुनिया का एक अकेला जगह जहां पर इंसानों का नहीं साँपो का शासन है

1) मूर्ति पर लगे बाल कभी उलझते नहीं है

1)   मूर्ति पर लगे बाल कभी उलझते नहीं है
Source: langimg

ऐसा माना जाता है कि भगवान वेंकटेश्वर स्वामी के मंदिर में रखे मूर्ति पर जो बाल लगे हुए हैं वह बाल असली हैं ये बाल  कभी उलझते नहीं है। ऐसा माना जाता है कि इस मंदिर में भगवान खुद विराजमान रहते हैं।


2) समुद्र की लहरों की ध्‍वनि

भगवान वेंकटेश्वर  मंदिर के अन्दर  जो लोग जाते हैं वह मूर्ति पर अगर अपना कान लगाकर सुनते हैं तो उन्हें समुद्र की लहरों की आवाज सुनाई देती है। यही कारण है कि  भगवान भगवान वेंकटेश्वर  की मूर्ति हमेशा नाम ही रहती है ।



ALSO READ :

बादशाह अकबर ने अपने जीते जी नहीं किया, अपनी तीनों बेटियों की शादी जाने क्या थी, वजह

3) अद्भुत छड़ी

3) अद्भुत छड़ी
Source: langimg

मंदिर में दरवाजे के दाईं ओर एक छड़ी है। इस छड़ी के बारे में बोला जाता है कि बचपन में इस छड़ी से ही भगवान बालाजी की पिटाई की गई थी, इस कारण उनकी ठुड्डी पर चोट लग गई थी। इस कारण से आज तक उनकी ठुड्डी पर शुक्रवार को चंदन का लेप लगाया जाता है। ताकि उनका घाव भर जाए।


4) भगवान बालाजी के मंदिर में हमेशा जलता रहता है एक विशेष प्रकार का दीप

भगवान बालाजी के मंदिर में एक ऐसा दीप है जो हमेशा जलता ही रहता है। इस दीप में ना तो कभी तेल डाला जाता है और ना ही घी। लोगों का कहना है कि यह दीप कितने वर्षों से जलता है और किसने जलाया है। इसके बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं है।


5)  मूर्ति मध्‍य में या दाईं ओर



अगर आप भगवान बालाजी के मंदिर के गर्भ के अंदर जाकर देखेंगे तो भगवान बालाजी जब आप भगवान   मूर्ति गर्भ गृह के बीच में स्थित है। उसके बाद आप गणगिरी से बाहर आकर उस मूर्ति को देखेगा तो मूर्ति दाएं और स्थित दिखाई देगी।


 

6) एक विशेष प्रकार का पचाई कपूर बालाजी के मूर्तियां पर लगाई जाती है


आपको बता दे की भगवान बालाजी के मूर्तियां पर एक विशेष प्रकार का परचाई कपूर लगाया जाता है।

वैज्ञानिकों का कहना है कि  इस परचाई  कपूर को  किसी भी पत्‍थर पर लगाया जाता है तो वह कुछ समय के बाद ही चटक जाता है। लेकिन भगवान की मूर्ति पर लगाने से कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।


7)   गुरुवार को लगाया जाता है चंदन का लेप


कहा जाता है कि भगवान बालाजी के ह्रदय पर  माता लक्ष्मी विराजमान रहती है लोगों को माता लक्ष्मी की उपस्थिति का पता तब लगता है जब भगवान बालाजी का पूरा सिंगार उतारकर उनके शरीर पर चंदन का लेप लगाया जाता है और जब उस चंदन के लेप  को हटाया जाता है तो भगवान बालाजी के ह्रदय पर माता लक्ष्मी की छवि दिखाई देती है।


8) भगवान बालाजी के प्रतिमा को  नीचे धोती और ऊपर साड़ी से सजाया जाता है


भगवान बालाजी की प्रतिमा को प्रत्येक दिन सजाया जाता है ।जिसमें उनके प्रतिमा को नीचे धोती और ऊपर सारी से सजाया जाता है । ऐसा माना जाता है कि भगवान बालाजी में माता लक्ष्मी का रूप समाहित है इसीलिए भगवान बालाजी को सारी और धोती दोनों से सजाया जाता है।


9) ये है एक  अनोखा गांव जहां की महिला नहीं पहनती सिले हुए वस्त्र


भगवान बालाजी के मंदिर से लगभग 10 किलोमीटर की दूरी पर एक गांव है। जहां पर बाहर से आए हुए व्यक्ति को जाना मना है क्योंकि यहां के लोग बहुत नियम और संयम के साथ इस गांव में रहते हैं। लोगों की जानकारी के अनुसार बताया गया है कि इस गांव में ऐसा नियम इसीलिए बनाया गया है क्योंकि बालाजी भगवान की मूर्तियों को चढ़ाने के लिए फल, फूल, दही और घी इसी गांव से जाता है। यह भी कहा जाता है कि इस गांव में कि महिलाएं कभी भी  सिले हुए वस्त्र नहीं पहनती है


10) भगवान बालाजी की मूर्तियों से आता है, पसीना


आपको बता दें कि भगवान बालाजी की मूर्ति एक विशेष तरह के चिकन पत्थर से बनाया हुआ है।लेकीन यह मूर्ति पूरी तरह दिखने में जीवित लगती है। कहा जाता है कि इस मंदिर को ठंडा रखा जाता है फिर भी ऐसा माना जाता है कि भगवान बालाजी को बहुत गर्मी लगती है। जिसके कारण उनके शरीर से  पसीना गिरने लगता है और उनके पीठ भी काफी नम रहते हैं।


ALSO READ :

अगर आप जानना चाहते हैं, व्हाट्सएप के बारे में कुछ रोचक बातें तो पढे इस खबर को

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जीवन से जुड़ी कुछ रोचक बातें

जानते हैं भारतीय खुफिया एजेंसी 'रॉ' के बारे में कुछ रोचक जानकारी

भारत के राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा से जुड़ी हुई कुछ रोचक जानकारी

ममता बनर्जी से जुड़े कुछ ऐसी बातें जो शायद बहुत लोग नहीं जानते होंगे





Top Trends on NewsDailyo

» अच्छा पोर्ट्रेट कैसे लें.» 'झीलों की नगरी' नैनीताल» अगर आप अपने बालों के झङने और डैंड्रफ से है, परेशान तो करे ,ये उपाय» Worst Passwordsare Determinable Says Splashdata» Know About The Place Where Girls Take Off Their Bra And Hang Up To Get The Desired Life Partner.» गुजरात का प्रसिद्ध सोमनाथ मंदिर» जानते हैं बॉलीवुड की कुछ टॉप फिल्मों के बारे में » Delhi Airplane Terminal Issue: Indigo Moves Court Against Dial» All That A Women Need Is 'clothes' .why Is It A Concern?» बॉलीवुड की पांच खूबसूरत अभिनेत्री, जिनके जलवे देख,आप हो जाएंगे फिदा» Here's Wishing The 'no.1' Star Of 90's A Very Happy Birthday.» 10 Actressess Who Got Pregnant Even Before Marriage» Hobby Is A Big Thing, But It's A Lot More Shocking! This Woman Became A Dragon By Spending 36 Lakh Rupees» नाखून में लगे नेल पॉलिश को छुड़ाने के 5 आसान घरेलू तरीके» क्रिसमस पर बनाएं, बच्चों का फेवरेट चॉकलेट चिप कुकीज